ये लक्षण दिखें तो रहें सावधान, हो सकते हैं डायबिटीज के लक्षण

डायबिटीज लक्षण और उपाय, Blood Sugar

हमारे सास्त्रो में लिखा है की खाने का अधिकार उसे ही है जो दिन में 4 घंटे काम करता है। और हम प्रकुति के खिलाफ जाएंगे और सारा दिन कुछ काम नहीं करेंगे और पुरे दिन कहते रहेंगे बहार का खाना रेस्टोरेंट का और भी बहोत सी पकवान मिठाई ज्यादा खाएंगे और हमारे शरीर को हम काम नहीं लगाते है तो हमें इसी शरीर से ज्यादा पीड़ाये भुगतनी पड़ती है। और आज के टाइम में वो समस्या है डायबिटीज।

आज लाखों लोग मधुमेह से पीड़ित हैं और यह संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। आने वाले वर्षों में भारत में मधुमेह रोगियों की संख्या सबसे अधिक होगी। बता दें कि डायबिटीज में ब्लड शुगर यानी ब्लड शुगर का स्तर अनियंत्रित रूप से बढ़ या गिर जाता है। जब ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है तो व्यक्ति के खिलाफ घातक स्थिति पैदा हो जाती है।

Blood Sugar

पेशाब ज्यादा आता है, भूख ज्यादा लगती है, प्यास लगती है, अचानक बढ़ जाती है और फिर घट जाती है, तो ये मधुमेह के लक्षण हो सकते हैं। अगर हम मधुमेह के गंभीर लक्षणों की बात करें, तो इससे आंखों की रोशनी कम हो सकती है और यहां तक ​​कि उच्च रक्तचाप भी हो सकता है। इसके अलावा जब मधुमेह के रोगियों को दिल का दौरा पड़ता है तो उन्हें चुप चाप दर्द होता है, यानी सीने में बहुत कम दर्द होता है। अधिकांश मधुमेह रोगियों को पता ही नहीं चलता कि उन्हें दिल का दौरा पड़ रहा है, उन्हें बस सांस लेने में तकलीफ होती है, इस कारण उनका समय पर इलाज नहीं हो पाता है।

मधुमेह के कारण कई बार अपने शरीर के किसी भी हिस्से में खरोच आती है तो वो गाँव ठीक होने में बहुत टाइम लगता है और हो सकता है वो गाँव ज्यादा ही गहरा होता जाता है। मधुमेह के रोगियों को पेरिफेरल न्यूरोपैथी की समस्या हो सकती है, जिसमें पैरों और बाहों की नसें धीरे-धीरे काम करना बंद कर देती हैं, इसलिए यदि किसी मरीज को कभी चोट लगती है तो उन्हें कई दिनों तक पता भी नहीं चलता कि चोट का अनुभव नहीं हुआ है।

डायबिटीज के मरीजों को कभी भी इन लक्षणों को नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए

पैरों में सूजन – मधुमेह रोगियों में किडनी की समस्या सबसे आम समस्याओं में से एक है और इसे कम करके नहीं आंका जाना चाहिए। इसके अलावा मधुमेह के रोगियों में हृदय की गति भी धीमी हो जाती है जिससे पैरों में सूजन भी आ जाती है। इसलिए मधुमेह रोगियों के लक्षणों पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

Diabetes में त्वचा में संक्रमण – मधुमेह के रोगियों को त्वचा में संक्रमण होने का खतरा अधिक होता है। क्योंकि उनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है।

डायबिटीज के उपाय

डायबिटीज से बचने के लिए सबसे पहले तो सुबह और साम कसरत करे योग प्राणायाम करे और हरी सब्जी का ज्यादा सेवन करे गरुड़ पुराण के हिसाब से डायबिटीज को झड़ से खत्म करने के लिए गिलोय और शहद को एक साथ सेवन करने से कुछ दिनों में डायबिटीज झड़ से खत्म हो जाएगी।

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए नींम के पत्तो का सेवन करे हररोज सुबह 25 पत्ते चबाने से डायबिटीज कंट्रोल कर सकते है।

Leave a Comment