अनियमित पीरियड्स (Periods) और दर्द से भी पाएं छुटकारा, करें ये घरेलू उपाय

Get rid of irregular periods as well as pain, do this home remedy

अनियमित पीरियड्स, जिसे मेडिकल भाषा में ओलिगोमेनोरिया भी कहा जाता है, महिलाओं में एक बहुत ही आम समस्या मानी जाती है। हालांकि, लंबे समय तक अनियमित Periods से हार्मोनल असंतुलन, तनाव, थकान हो सकती है, इसलिए पीरियड साइकिल को ठीक करना बहुत जरूरी है। विशेषज्ञों के अनुसार काले तिल अनियमित पीरियड्स को ठीक करने में मददगार हो सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे

क्या पीरियड्स में काले तिल ले सकते हैं?

विशेषज्ञों के अनुसार तिल शरीर में गर्मी पैदा करता है, जो मासिक धर्म को नियंत्रित करता है और मासिक धर्म की ऐंठन से राहत दिलाता है। हालांकि, काले तिल को कम मात्रा में खाना चाहिए क्योंकि यह शरीर में बहुत अधिक गर्मी पैदा करता है।

अनियमित पीरियड्स Periods

अनियमित पीरियड्स के साथ-साथ दर्द से भी पाएं छुटकारा, करें ये घरेलू उपाय

पीरियड्स (Periods) को नियमित करने के लिए तिल का उपाय

विषय: How to Get Regular Periods Naturally Health Tips

काला तिल – 5 ग्राम
पानी – 1 गिलास

काढ़ा कैसे बनाते हैं?

1. सबसे पहले काले तिल को अच्छी तरह से साफ करके पाउडर के रूप में रख लें.
2. अब इसे 1 गिलास पानी में तब तक उबालें जब तक पानी आधा न हो जाए.

कैसे पियें

इस काढ़े को मासिक धर्म की तारीख से 5 दिन पहले पिएं। इस काढ़े को दिन में 2 बार पियें और पीरियड्स आने पर इसका सेवन बंद कर दें। इससे पीरियड्स नियमित होंगे और कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होगा।

आप इस तरह भी सेवन कर सकते हैं

– आप इसे मासिक धर्म की अपेक्षित तिथि से लगभग 15 दिनों तक रोजाना ले सकती हैं। इससे आपको पहले मासिक धर्म होता है।
– दिन में 2-3 बार एक चम्मच तले हुए या सादे तिल के शहद के साथ।
– सलाद, करी, ब्रेड में तिल डालें या लड्डू बनाएं.

हार्मोंस भी करेगा बैलेंस

रिसर्च के मुताबिक करीब 24 दिन तक इसका सेवन मेनोपॉज के बाद महिलाओं की सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। रोजाना 50 मिलीग्राम तिल का पाउडर लेने से हार्मोन बैलेंस बना रहता है। यह रक्त में एंटीऑक्सिडेंट और वसा के स्तर में भी सुधार करता है।

पाचन के लिए भी फायदेमंद

30 ग्राम बिना छिलके वाले तिल में 3.25 ग्राम फाइबर होता है जो रोजाना सेवन का 12% है। विशेषज्ञों के अनुसार फाइबर का अच्छा सेवन पाचन को बढ़ावा देता है, इसलिए इसे अपने आहार का हिस्सा बनाएं।

Leave a Comment